Barish Shayari

जब भी बारिश का मौसम होता है तब सिर्फ आपके अपनों के साथ कुछ पल बीतनी की बहुत सरे उम्मीद से होती है. पर बे वक़्त बारिश कभी ग़म का भी शाम लती है, और वही ग़म कब दर्द में बदल जाए किसको पता है. पर हर किसिका वक्त बारिश में दर्द भारी नहीं होता … Read more