Gham Shayari

Gham Bhari Shayari | Gham Shayari In Hindi | Gham Shayari Quotes | Gham Shayari Status: ग़म में तो हर कोई होता है जब भी उनके प्यार उनसे दूर चले जाता है वह सिर्फ प्यार में ग़म है वो बात नहीं. कभी कभी रिश्तों में दूरियां होती है जिसमे एक दूसरे से नाराज़ होके रह लेते है. पर सबसे ज्यादा लोग प्यार में ही दर्द, ग़म और ख़ामोशी सहते है.

तू अगर आपको भी कोई इश्क़ में दर्द मिला है जिससे आपके मन में दर्द भरी है और वह दर्द सबको दिखने के लिए आप हर एक कोशिश बेकार है तू आज ये ग़म शायरी आपके लिए मदतगार होने के साथ कुछ रहत भी मिलेगा आपको जिससे आप लोगो को अपनी दर्द सोशल मीडिया से दिखा सकते हो. हमें हमारी ब्लॉग ग़म शायरी के अलाबा कुछ बहतरीन ब्रेकअप शायरी, सैड शायरी, शायरी शेयर की है जो आपको शेयर करना चाहिए.

we have seen many times that people become very sad after being cheated on in love or a relationship. It becomes very difficult for them to forget their love, or forget friends, they are not able to get out of this sorrow.

So, today we have brought for you the best collection of Gham Bhari Shayari in Hindi, with the help of which you can convey the pain of your heart to others by sharing on social media. Express your sad heart feelings with our Gham Bhari Shayari collection.

Gham Shayari In Hindi

तेरी दुनिया में जीने से तो बेहतर हैं कि मर जायें,
वही आँसू, वही आहें, वही ग़म है जिधर जायें,
कोई तो ऐसा घर होता जहाँ से प्यार मिल जाता,
वही बेगाने चेहरे हैं कहाँ जायें किधर जायें।

teree duniya mein jeene se to behatar hain ki mar jaayen,
vahee aansoo, vahee aahen, vahee gam hai jidhar jaayen,
koee to aisa ghar hota jahaan se pyaar mil jaata,
vahee begaane chehare hain kahaan jaayen kidhar jaayen.

कुछ ग़मों का होना भी जरूरी है ज़िन्दगी में,
ज़िंदा होने का अहसास बना रहता है।

kuchh gamon ka hona bhee jarooree hai zindagee mein,
zinda hone ka ahasaas bana rahata hai.

ऐसा नहीं के तेरे बाद अहल-ए-करम नहीं मिले,
तुझ सा नहीं मिला कोई, लोग तो कम नहीं मिले,
एक तेरी जुदाई के दर्द की बात और है,
जिनको न सह सके ये दिल, ऐसे तो ग़म नहीं मिले।

aisa nahin ke tere baad ahal-e-karam nahin mile,
tujh sa nahin mila koee, log to kam nahin mile,
ek teree judaee ke dard kee baat aur hai,
jinako na sah sake ye dil, aise to gam nahin mile.

शायरों की बस्ती में कदम रखा तो जाना,
ग़मों की महफिल भी कमाल जमती है।

shaayaron kee bastee mein kadam rakha to jaana,
gamon kee mahaphil bhee kamaal jamatee hai.

अजीब लगा यूं उनका मुझको छोड़ के जाना,
ना सुना कुछ और कहा भी कुछ नहीं,
आसान नहीं था यूं उनसे जुदा होकर रहना,
फिर जुदा होकर अब कुछ रहा भी नहीं.

ajeeb laga yoon unaka mujhako chhod ke jaana,
na suna kuchh aur kaha bhee kuchh nahin,
aasaan nahin tha yoon unase juda hokar rahana,
phir juda hokar ab kuchh raha bhee nahin.

Gham Shayari Quotes

Often some days come in our life that is just bad days but remember if bad days come then good days will also come ahead. Tears come from our hearts not from our minds. Today’s good times and tomorrow’s sad thoughts are also there. Also, remember don’t cry over the person who didn’t cry for you. The saddest thing in the world is the one you love and they don’t understand you.

ना मिलता ग़म तो बर्बादी के अफसाने कहाँ जाते,
चमन होती अगर दुनिया… तो वीराने कहाँ जाते,
चलो अच्छा हुआ अपनों में कोई ग़ैर तो निकला,
सभी होते अगर अपने ही तो बेगाने कहाँ जाते।

na milata gam to barbaadee ke aphasaane kahaan jaate,
chaman hotee agar duniya… to veeraane kahaan jaate,
chalo achchha hua apanon mein koee gair to nikala,
sabhee hote agar apane hee to begaane kahaan jaate.

ज़िंदगी लोग जिसे मरहम-ए-ग़म जानते हैं,
किस तरह हमने गुजारी है हम ही जानते हैं।

zindagee log jise maraham-e-gam jaanate hain,
kis tarah hamane gujaaree hai ham hee jaanate hain.

मैं आँखें बिछाए बैठा हूँ उन्हीं राहों पर,
मगर शायद वो लौटकर न आना चाहते हैं,
ना दो सलाह मुझे खुश रहने की,
शायद वो मुझे अभी और रूलाना चाहते हैं।

main aankhen bichhae baitha hoon unheen raahon par,
magar shaayad vo lautakar na aana chaahate hain,
na do salaah mujhe khush rahane kee,
shaayad vo mujhe abhee aur roolaana chaahate hain.

तेरी आरज़ू मेरा ख्वाब है ऐ सनम
जिसका रास्ता बहुत खराब है,
मेरे ज़ख्म का अंदाज़ा तू न लगा,
दिल का हर पन्ना दर्द की किताब है.

teree aarazoo mera khvaab hai ai sanam
jisaka raasta bahut kharaab hai,
mere zakhm ka andaaza too na laga,
dil ka har panna dard kee kitaab hai.

Gham Bhari Shayari In Hindi

जब भी ठोकर लगी तेरे प्यार में मुझे,
मुझको मेरे ग़मों ने सहारा बहुत दिया।

jab bhee thokar lagee tere pyaar mein mujhe,
mujhako mere gamon ne sahaara bahut diya.

अपनी आँखों के समंदर में उत्तर जाने दे,
तेरा मुज़रिम हूँ मुझे डूब के मर जाने दे,
ज़ख़्म कितने तेरी चाहत से मिले हैं मुझको,
सोचता हूँ कहूँ तुझसे, मगर जाने दे.

apanee aankhon ke samandar mein uttar jaane de,
tera muzarim hoon mujhe doob ke mar jaane de,
zakhm kitane teree chaahat se mile hain mujhako,
sochata hoon kahoon tujhase, magar jaane de.

न हारा है इश्क न दुनिया थकी है,
दिया जल रहा है हवा चल रही है,
सुकून ही सुकून है खुशी ही खुशी है,
तेरा ग़म सलामत मुझे क्या कमी है।

na haara hai ishk na duniya thakee hai,
diya jal raha hai hava chal rahee hai,
sukoon hee sukoon hai khushee hee khushee hai,
tera gam salaamat mujhe kya kamee hai.

सख्त राहों में अब आसान सफर लगता है,
अब अनजान ये सारा ही शहर लगता है,
कोई नहीं है मेरा ज़िन्दगी की राह में,
मेरा ये ग़म ही मेरा हमसफ़र लगता है।

sakht raahon mein ab aasaan saphar lagata hai,
ab anajaan ye saara hee shahar lagata hai,
koee nahin hai mera zindagee kee raah mein,
mera ye gam hee mera hamasafar lagata hai.

ना मिलता ग़म तो बर्बादी के अफसाने कहाँ जाते,
चमन होती अगर दुनिया तो वीराने कहाँ जाते,
चलो अच्छा हुआ अपनों में कोई गैर तो निकला,
सभी होते अगर अपने तो बेगाने कहाँ जाते।

na milata gam to barbaadee ke aphasaane kahaan jaate,
chaman hotee agar duniya to veeraane kahaan jaate,
chalo achchha hua apanon mein koee gair to nikala,
sabhee hote agar apane to begaane kahaan jaate.

Gham Shayari Status

ग़म-ए-हयात ने आवारा कर दिया वरना,
थी आरज़ू कि तेरे दर पे सुबह-ओ-शाम करें।

gam-e-hayaat ne aavaara kar diya varana,
thee aarazoo ki tere dar pe subah-o-shaam karen.

कैसे बयान करें आलम दिल की बेबसी का,
वो क्या समझे दर्द आंखों की इस नमी का,
उनके चाहने वाले इतने हो गए हैं अब कि,
उन्हे अब एहसास ही नहीं हमारी कमी का.

kaise bayaan karen aalam dil kee bebasee ka,
vo kya samajhe dard aankhon kee is namee ka,
unake chaahane vaale itane ho gae hain ab ki,
unhe ab ehasaas hee nahin hamaaree kamee ka.

जिनकी आँखें आँसू से नम नहीं,
क्या समझते हो उसे कोई गम नहीं?
तुम तड़प कर रो दिये तो क्या हुआ,
ग़म छुपा के हँसने वाले भी कम नहीं।

jinakee aankhen aansoo se nam nahin,
kya samajhate ho use koee gam nahin?
tum tadap kar ro diye to kya hua,
gam chhupa ke hansane vaale bhee kam nahin

हमने सोचा कि दो चार दिन की बात होगी लेकिन,
तेरे ग़म से तो उम्र भर का रिश्ता निकल आया।

hamane socha ki do chaar din kee baat hogee lekin,
tere gam se to umr bhar ka rishta nikal aaya.

अब ये भी नहीं ठीक के हर दर्द मिटा दें,
कुछ दर्द तो कलेजे से लगाने के लिए हैं,
ये इल्म का सौदा, ये रिसाले, ये किताबें,
एक शख्स की यादों को भुलाने के लिए हैं.

ab ye bhee nahin theek ke har dard mita den,
kuchh dard to kaleje se lagaane ke lie hain,
ye ilm ka sauda, ye risaale, ye kitaaben,
ek shakhs kee yaadon ko bhulaane ke lie hain.

Gham Shayari Images

हाल-ए-दिल अपना क्या सुनाएं आपको,
ग़म से बातें करना आदत है हमारी,
लोग मरते हैं सिर्फ एक बार सनम,
रोज पल-पल मरना किस्मत है हमारी।

haal-e-dil apana kya sunaen aapako,
gam se baaten karana aadat hai hamaaree,
log marate hain sirph ek baar sanam,
roj pal-pal marana kismat hai hamaaree.

तुझसे बिछड़ने के बाद कभी खुश ना हो पाया मै,
तेरी यादों को दिल से ना मिटा पाया मै,
करना तो चाहता था बहुत कुछ अपने लिए,
फ़ुरसत ना निकाल पाया अपने लिए मै.

tujhase bichhadane ke baad kabhee khush na ho paaya mai,
teree yaadon ko dil se na mita paaya mai,
karana to chaahata tha bahut kuchh apane lie,
furasat na nikaal paaya apane lie mai.

हुस्न खो जायेगा प्यार मिट जायेगा,
वक़्त के हाथ सबकुछ लुट जायेगा,
हाँ रहेगी मगर याद मेरे दिल में तेरी,
ग़म का समंदर तो सिमट जायेगा।

husn kho jaayega pyaar mit jaayega,
vaqt ke haath sabakuchh lut jaayega,
haan rahegee magar yaad mere dil mein teree,
gam ka samandar to simat jaayega.

लोग कहते हैं वक्त किसी का गुलाम नही होता,
फिर क्यूँ थम सा जाता है ग़मों के दौर में?

log kahate hain vakt kisee ka gulaam nahee hota,
phir kyoon tham sa jaata hai gamon ke daur mein?

मुस्कुराते पलको पे सनम चले आते हैं,
आप क्या जानो कहाँ से हमारे गम आते हैं,
आज भी उस मोड़ पर खड़े हैं,जहाँ
किसी ने कहा था कि ठहरो हम अभी आते है।

muskuraate palako pe sanam chale aate hain,
aap kya jaano kahaan se hamaare gam aate hain,
aaj bhee us mod par khade hain,jahaan
kisee ne kaha tha ki thaharo ham abhee aate hai.

Gham Shayari For Whatsapp

दुनिया भी मिली गम-ए-दुनिया भी मिली है,
वो क्यूँ नहीं मिलता जिसे माँगा था खुदा से।

duniya bhee milee gam-e-duniya bhee milee hai,
vo kyoon nahin milata jise maanga tha khuda se.

मुद्दत से जिन की आस थी
वो मिले भी तो कुछ यूँ मिले,
हम नजर उठा कर तड़प उठे
वो नजर झुका कर गुजर गए।

muddat se jin kee aas thee
vo mile bhee to kuchh yoon mile,
ham najar utha kar tadap uthe
vo najar jhuka kar gujar gae.

कौन सा वो ज़ख्मे-दिल था जो तर-ओ-ताज़ा न था,
ज़िन्दगी में इतने ग़म थे जिनका अंदाज़ा न था,
‘अर्श’ उनकी झील सी आँखों का उसमें क्या क़ुसूर,
डूबने वालों को ही गहराई का अंदाज़ा न था।

kaun sa vo zakhme-dil tha jo tar-o-taaza na tha,
zindagee mein itane gam the jinaka andaaza na tha,
arsh unakee jheel see aankhon ka usamen kya qusoor,
doobane vaalon ko hee gaharaee ka andaaza na tha.

कभी कभी मोहब्बत में वादे टूट जाते हैं,
इश्क़ के कच्चे धागे टूट जाते हैं,
झूठ बोलता होगा कभी चाँद भी,
इसलिए तो रुठकर तारे टूट जाते हैं.

kabhee kabhee mohabbat mein vaade toot jaate hain,
ishq ke kachche dhaage toot jaate hain,
jhooth bolata hoga kabhee chaand bhee,
isalie to ruthakar taare toot jaate hain.

ग़म ये नहीं कि कसम अपनी भुलाई तुमने,
ग़म तो ये है कि रकीबों से निभाई तुमने,
कोई रंजिश थी अगर तुमको तो मुझसे कहते,
बात आपस की थी क्यूँ सब को बताई तुमने।

gam ye nahin ki kasam apanee bhulaee tumane,
gam to ye hai ki rakeebon se nibhaee tumane,
koee ranjish thee agar tumako to mujhase kahate,
baat aapas kee thee kyoon sab ko bataee tumane.

Gham Bhari Shayari Status

शायद खुशी का दौर भी आ जाए एक दिन,
ग़म भी तो मिल गये थे तमन्ना किये बगैर।

shaayad khushee ka daur bhee aa jae ek din,
gam bhee to mil gaye the tamanna kiye bagair.

रात भर मुझको गम-ए-यार ने सोने न दिया,
सुबह को खौफ-ए-शब-ए-तार ने सोने न दिया,
शमा की तरफ मेरी रात कटी सूली पर,
चैन से याद-ए-कद -ए-यार ने सोने न दिया।

raat bhar mujhako gam-e-yaar ne sone na diya,
subah ko khauph-e-shab-e-taar ne sone na diya,
shama kee taraph meree raat katee soolee par,
chain se yaad-e-kad -e-yaar ne sone na diya.

जो मेरा था वो मेरा हो नहीं पाया,
आँखों में आंसू भरे थे पर मैं रो नहीं पाया,
एक दिन उन्होंने मुझसे कहा कि,
हम मिलेंगे ख़्वाबों में पर मेरी बदकिस्मती तो देखिये,
उस रात तो मैं ख़ुशी के मारे सो भी नहीं पाया.

jo mera tha vo mera ho nahin paaya,
aankhon mein aansoo bhare the par main ro nahin paaya,
ek din unhonne mujhase kaha ki,
ham milenge khvaabon mein par meree badakismatee to dekhiye,
us raat to main khushee ke maare so bhee nahin paaya

जब भी करीब आता हूँ बताने के लिए,
जिंदगी दूर कर देती है सताने के लिए,
महफ़िलों की शान न समझना मुझे,
मैं अक्सर हँसता हूँ ग़म छुपाने के लिए।

jab bhee kareeb aata hoon bataane ke lie,
jindagee door kar detee hai sataane ke lie,
mahafilon kee shaan na samajhana mujhe,
main aksar hansata hoon gam chhupaane ke lie.

Gham Shayari In English

दिल का दर्द एक राज बनकर रह गया,
मेरा भरोसा मजाक बनकर रह गया,
दिल के सौदागरों से दिल्लगी कर बैठे,शायद
इसलिए मेरा प्यार इक अल्फाज बनकर रह गया.

dil ka dard ek raaj banakar rah gaya,
mera bharosa majaak banakar rah gaya,
dil ke saudaagaron se dillagee kar baithe,shaayad
isalie mera pyaar ik alphaaj banakar rah gaya.

एक अजीब सा मंजर नज़र आता है,
हर एक आँसूं समंदर नज़र आता है,
कहाँ रखूं मैं शीशे सा दिल अपना,
हर किसी के हाथ मैं पत्थर नज़र आता है.

ek ajeeb sa manjar nazar aata hai,
har ek aansoon samandar nazar aata hai,
kahaan rakhoon main sheeshe sa dil apana,
har kisee ke haath main patthar nazar aata hai.

हर ख़ुशी के पहलू हाथों से छूट गए,
अब तो खुद के साये भी हमसे रूठ गए,
हालात हैं अब ऐसे ज़िंदगी में हमारी,
प्यार की राहों में हम खुद ही टूट गए.

har khushee ke pahaloo haathon se chhoot gae,
ab to khud ke saaye bhee hamase rooth gae,
haalaat hain ab aise zindagee mein hamaaree,
pyaar kee raahon mein ham khud hee toot gae.

ग़म तो है हर एक को, मगर हौंसला है जुदा- जुदा,
कोई टूट कर बिखर गया कोई मुस्कुरा के चल दिया।

gam to hai har ek ko, magar haunsala hai juda- juda,
koee toot kar bikhar gaya koee muskura ke chal diya.

सिर्फ जिंदा रहने को जिंदगी नहीं कहते,
कुछ गमे-मोहब्बत हो कुछ गमे-ज़हान हो।

sirph jinda rahane ko jindagee nahin kahate,
kuchh game-mohabbat ho kuchh game-zahaan ho.

किसी ने जैसे कसम खाई हो सताने की,
हमीं पे खत्म हैं सब गर्दिशें जमाने की,
सुकून तो खैर हमें नसीब क्या होगा,
कहो अभी भी हिम्मत है ग़म उठाने की।

kisee ne jaise kasam khaee ho sataane kee,
hameen pe khatm hain sab gardishen jamaane kee,
sukoon to khair hamen naseeb kya hoga,
kaho abhee bhee himmat hai gam uthaane kee.

Last Word: आपको अगर ये पेज पसंद आया है तो हमें समर्थन करें। फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और टेलीग्राम पे हमें फॉलो करें। हमें भी आपके फूलो से कुछ राहत मिलेगा.

1 thought on “Gham Shayari”

  1. Pingback: Motivational Shayari

Leave a Comment

Your email address will not be published.