Barish Shayari

जब भी बारिश का मौसम होता है तब सिर्फ आपके अपनों के साथ कुछ पल बीतनी की बहुत सरे उम्मीद से होती है. पर बे वक़्त बारिश कभी ग़म का भी शाम लती है, और वही ग़म कब दर्द में बदल जाए किसको पता है. पर हर किसिका वक्त बारिश में दर्द भारी नहीं होता है, कोई ऐसा भी है जो हर बारिश में प्यार में अपने चाहने वाले के साथ वक्त गुजारना चाहता है.

Here I am sharing latest barish shayari, barish shayari status, barsih shayari quotes, barish shayari images for friends, family and lovers. which is most search online for a barish status for whatsapp.

अगर आप भी दिल लगाने वालो से बारिश का पल सुहाना पल में गुजरे चाहते हैं तो उन्हें प्यार भारी बारिश शायरी शेयर जरूर किजिये गा, किया पता उस हसीन चाहरा पल कब आपके सामने आ जाए आपके दिन को और हसीन करने को? क्योंकी वे इंतहान प्यार में सब कुछ मुमकिन है और बारिश तो प्यार का एक ना भूलने पाना पल होती है.

कभी दोस्तो के साथ बारिश में वो पल याद आते हैं जो कभी आप और हम बिटे हैं, तू आज वही प्यार, दोस्ती और रिश्तों में जो बारिश के भूमिका उसे और खूबसूरत पल में बदल दे। जिंदगी का किया पता कब चले और कब बंद हो जाए क्योंकि ये जिंदगी बारिश के तरह ही किसिका बस में जो नहीं रहा.

Barish Shayari In Hindi

वो बचपन भी याद आती है जब रास्ते में बारिश के साथ खेला करते हैं और मां दादी हुई छटा लेके जाति थी के मत भी इतनी बुखार जो आएगा. और किया हमें बचपन को याद करे और किया बता दुनिया को के हर किसका बारिश जोरी भूत घर रिश्ता जो होता है. 

पर खोसी और मन के इसा कभी भी कोई कम अधूरा नहीं रहने देता है मेरे यार। आज चलो बारिश के मौसम में किसको याद करके कोई हसीन बरिश शायरी शेयर करे. और है पालका पुरा मजा उठाये, चाहे आप प्यार दोस्ती और रिश्ते को ही क्यों ना करे। पर है पल को जाने मत दो.

भीगी मौसम की भीगी सी रात,
भीगी सी याद भुली हुई बात,
भुला हुआ वक्त वो भीगी सी आँखें,
वो बीता हुआ साथ,
मुबारक हो आपको साल की पहली बरसात।

bheegee mausam kee bheegee see raat,
bheegee see yaad bhulee huee baat,
bhula hua vakt vo bheegee see aankhen,
vo beeta hua saath,
mubaarak ho aapako saal kee pahalee barasaat.

Read Also – Chai Shayari In Hindi

जब भी होगी पहली बारिश तुमको सामने पाएँगे
वो बूंदों से भरा चेहरा तुम्हारा हम देख तो पाएँगे

jab bhee hogee pahalee baarish tumako saamane paenge
vo boondon se bhara chehara tumhaara ham dekh to paenge

कुछ नशा तेरी बात का है
कुछ नशा धीमी बरसात का है,
हमे तुम यूँही पागल मत समझो
यह दिल पर असर पहली मुलाकात का है।

kuchh nasha teree baat ka hai
kuchh nasha dheemee barasaat ka hai,
hame tum yoonhee paagal mat samajho
yah dil par asar pahalee mulaakaat ka hai.

Barish Shayari Quotes

तुम्हें बारिश पसंद है मुझे बारिश में तुम,
तुम्हें हँसना पसंद है मुझे हस्ती हुए तुम,
तुम्हें बोलना पसंद है मुझे बोलते हुए तुम,
तुम्हें सब कुछ पसंद है और मुझे बस तुम।

tumhen baarish pasand hai mujhe baarish mein tum,
tumhen hansana pasand hai mujhe hastee hue tum,
tumhen bolana pasand hai mujhe bolate hue tum,
tumhen sab kuchh pasand hai aur mujhe bas tum.

वो मेरे रु-बा-रु आया भी तो बरसात के मौसम में,
मेरे आँसू बह रहे थे और वो बरसात समझ बैठा।

vo mere ru-ba-ru aaya bhee to barasaat ke mausam mein,
mere aansoo bah rahe the aur vo barasaat samajh baitha.

दिल में अनजाना सा एहसास,
जैसे बारिश चुपके से कुछ कह रही है,
न जाने कौन सी कशिश है इस बारिश में,
जो साथ में यादें भी ले आई है।

dil mein anajaana sa ehasaas,
jaise baarish chupake se kuchh kah rahee hai,
na jaane kaun see kashish hai is baarish mein,
jo saath mein yaaden bhee le aaee hai.

Read More – Zindegi Shayari Hindi

बरस जाये यहाँ भी कुछ नूर की बारिशें,
के ईमान के शीशों पे बड़ी गर्द जमी है,
उस तस्वीर को भी कर दे ताज़ा,
जिनकी याद हमारे दिल में धुंधली सी पड़ी है।

baras jaaye yahaan bhee kuchh noor kee baarishen,
ke eemaan ke sheeshon pe badee gard jamee hai,
us tasveer ko bhee kar de taaza,
jinakee yaad hamaare dil mein dhundhalee see padee hai.

ऐ बारिश ज़रा थम के बरस,
जब मेरा यार आ जाये तो जम के बरस,
पहले न बरस की वो आ न सकें,
फिर इतना बरस की वो जा न सकें।

ai baarish zara tham ke baras,
jab mera yaar aa jaaye to jam ke baras,
pahale na baras kee vo aa na saken,
phir itana baras kee vo ja na saken.

Barish Shayari Status

ये इश्क़ का मौसम अजीब है जनाब,
इस बारिश में कई रिश्ते धुल जाते है,
बेगानों से करते है मोहब्बत कुछ लोग,
और अपनों के ही आंसू भूल जाते है।

ye ishq ka mausam ajeeb hai janaab,
is baarish mein kaee rishte dhul jaate hai,
begaanon se karate hai mohabbat kuchh log,
aur apanon ke hee aansoo bhool jaate hai.

बदली सावन की कोई जब भी बरसती होगी,
दिल ही दिल में वह मुझे याद तो करती होगी,
ठीक से सो न सकी होगी कभी ख्यालों से मेरे
करवटें रात भर बिस्तर पे बदलती होगी.

badalee saavan kee koee jab bhee barasatee hogee,
dil hee dil mein vah mujhe yaad to karatee hogee,
theek se so na sakee hogee kabhee khyaalon se mere
karavaten raat bhar bistar pe badalatee hogee.

बारिशों से अदब-ए-मोहब्बत सीखो फ़राज़,
अगर ये रूठ भी जाएँ, तो बरसती बहुत हैं।

baarishon se adab-e-mohabbat seekho faraaz,
agar ye rooth bhee jaen, to barasatee bahut hain.

बादलों को गुरुर था कि वो उच्चाई पे है,
जब बारिश हुई तो उसे ज़मीन की मिट्टी ही रास आयी।

baadalon ko gurur tha ki vo uchchaee pe hai,
jab baarish huee to use zameen kee mittee hee raas aayee.

बदली सावन की कोई जब भी बरसती होगी,
दिल ही दिल में वह मुझे याद तो करती होगी,
ठीक से सो न सकी होगी कभी ख्यालों से मेरे
करवटें रात भर बिस्तर पे बदलती होगी.

badalee saavan kee koee jab bhee barasatee hogee,
dil hee dil mein vah mujhe yaad to karatee hogee,
theek se so na sakee hogee kabhee khyaalon se mere
karavaten raat bhar bistar pe badalatee hogee.

Barish Shayari Messages

कहीं फिसल न जाऊं तेरे खयालों में चलते चलते
अपनी यादों को रोको मेरे शेहेर में बारिश हो रही है

kaheen phisal na jaoon tere khayaalon mein chalate chalate
apanee yaadon ko roko mere sheher mein baarish ho rahee hai

उनकी याद कुछ ऐसे सताने लगी,
बारिश बन कर दिल को भिगोने लगी,
वो दूर है हम से इतना फिर भी,
पास होने का एहसास दिलाने लगी

unakee yaad kuchh aise sataane lagee,
baarish ban kar dil ko bhigone lagee,
vo door hai ham se itana phir bhee,
paas hone ka ehasaas dilaane lagee.

पूछते थे ना कितना प्यार है हमें तुम से
लो अब गिन लो ये बूँदें बारिश की

poochhate the na kitana pyaar hai hamen tum se
lo ab gin lo ye boonden baarish kee.

पूछे कोई उससे के दुख है या खुशी है,
जाने क्यों बूँद कोई बारिश की पत्तों पे रुकी है।

poochhe koee usase ke dukh hai ya khushee hai,
jaane kyon boond koee baarish kee patton pe rukee hai.

आसमान में काली घटा छाई है
आज फिर बीवी ने दो बातें सुनाई हैं
दिल तो करता है सुधर जाऊं मगर
बाजूवाली आज फिर भीग कर आयी है

aasamaan mein kaalee ghata chhaee hai
aaj phir beevee ne do baaten sunaee hain
dil to karata hai sudhar jaoon magar
baajoovaalee aaj phir bheeg kar aayee hai

जब जब घिरे बादल तेरी याद आयी
जब झूम के बरसा सावन तेरी याद आयी
जब जब मैं भीगा मुझे तेरी याद आयी
मेरे भाई तू ने मेरी छतरी क्यों नहीं लौटायी

jab jab ghire baadal teree yaad aayee
jab jhoom ke barasa saavan teree yaad aayee
jab jab main bheega mujhe teree yaad aayee
mere bhaee too ne meree chhataree kyon nahin lautaayee

Barish Shayari Images

बादल बड़े चुप-चुप से लगते हैं,
नाराज़ ख़ुद से लगते हैं,
आज पानी कहीँ से भी नहीँ बरसा,
यह भी कुछ-कुछ मुझ से लगते हैं।

baadal bade chup-chup se lagate hain,
naaraaz khud se lagate hain,
aaj paanee kaheen se bhee naheen barasa,
yah bhee kuchh-kuchh mujh se lagate hain.

ये बारिश भी कितनी अजीब है,
पूरे तन को तो भीगा देती है,
मगर उसके सामने आँसू छुपाने में,
मेरी मदद नहीं कर पाती है।

ye baarish bhee kitanee ajeeb hai,
poore tan ko to bheega detee hai,
magar usake saamane aansoo chhupaane mein,
meree madad nahin kar paatee hai.

तपिश और बढ़ गई इन चंद बूंदों के बाद
काले सियाह बादलो ने भी बस यूँ ही बहलाया मुझे

tapish aur badh gaee in chand boondon ke baad
kaale siyaah baadalo ne bhee bas yoon hee bahalaaya mujhe

ये बारिश भी बिल्कुल तुम्हारी तरह है,
फर्क सिर्फ इतना है,
तुम मन को भीगा देते हो,
वो पूरे तन को भीगा देती है।

ye baarish bhee bilkul tumhaaree tarah hai,
phark sirph itana hai,
tum man ko bheega dete ho,
vo poore tan ko bheega detee hai.

मदमस्त बूँदों को गिरते देखा,
बादल का हाल बताते हैं,
तड़पन में अपनी बन के बारिश,
वो धरा से मिलने आते हैं।

madamast boondon ko girate dekha,
baadal ka haal bataate hain,
tadapan mein apanee ban ke baarish,
vo dhara se milane aate hain.

तुमको बारिश पसंद है मुझे बारिश में तुम,
तुमको हँसना पसंद है मुझे हस्ती हुए तुम,
तुमको बोलना पसंद है मुझे बोलते हुए तुम,
तुमको सब कुछ पसंद है और मुझे बस तुम।

tumako baarish pasand hai mujhe baarish mein tum,
tumako hansana pasand hai mujhe hastee hue tum,
tumako bolana pasand hai mujhe bolate hue tum,
tumako sab kuchh pasand hai aur mujhe bas tum.

Barish Shayari For Whatsapp Status

वो मेरे रु-बा-रु आया भी तो बरसात के मौसम में,
मेरे आँसू बह रहे थे और वो बरसात समझ बैठा।

vo mere ru-ba-ru aaya bhee to barasaat ke mausam mein,
mere aansoo bah rahe the aur vo barasaat samajh baitha.

हमें मालूम है तुमने देखी हैं बारिश की बूँदें,
मगर मेरी आँखों से ये सावन आज भी हार जाता है।

hamen maaloom hai tumane dekhee hain baarish kee boonden,
magar meree aankhon se ye saavan aaj bhee haar jaata hai.

एक तो ये रात, उफ़ ये बरसात,
इक तो साथ नही तेरा, उफ़ ये दर्द बेहिसाब
कितनी अजीब सी है बात,
मेरे ही बस में नही मेरे ये हालात।

ek to ye raat, uf ye barasaat,
ik to saath nahee tera, uf ye dard behisaab
kitanee ajeeb see hai baat,
mere hee bas mein nahee mere ye haalaat.

कैसी बीती रात किसी से मत कहना,
सपनो वाली बात किसी से मत कहना,
कैसे उठे बादल और कहां जाकर टकराए,
कैसी हुई बरसात किसी से मत कहना!

kaisee beetee raat kisee se mat kahana,
sapano vaalee baat kisee se mat kahana,
kaise uthe baadal aur kahaan jaakar takarae,
kaisee huee barasaat kisee se mat kahana!

लगता है आज मौसम खुशनुमा है।
हुई नहीं बारिश फिर भी वो भीग रही है।

lagata hai aaj mausam khushanuma hai.
huee nahin baarish phir bhee vo bheeg rahee hai.

Barish Shayari For Lovers

न जाने क्यू अभी आपकी याद आ गयी,
मौसम क्या बदला बरसात भी आ गयी,
मैंने छुकर देखा बूंदों को तो, हर बूंद में
आपकी तस्वीर नज़र आ गयी ।

na jaane kyoo abhee aapakee yaad aa gayee,
mausam kya badala barasaat bhee aa gayee,
mainne chhukar dekha boondon ko to, har boond mein
aapakee tasveer nazar aa gayee.

हमारी एक छोटी सी उमीदो के साथ ये बारिश का पोस्ट एहि पे ख़तम करते है अगर आप लोग इसमें बहुत सारा प्यार देंगे तोह इस पोस्ट को और भी लम्बा किया जाएगा और नयी नयी शायरी भी लिखा जायेगा. क्यूंकि हमारी मेहनत बेकार ना जाए एहि अशा रह गया अब क्यूंकि बहुत सारे पोस्ट हमनें इस शायरिम.कॉम साइट पे लिखी है जो आपको सभी को एक एक बार पढ़नी चाहिए. जो दिलजास्त होने के साथ हर एक के लिए अलग अलग शायरी भी है.

3 thoughts on “Barish Shayari”

  1. Pingback: Dil Shayari In Hindi

  2. Pingback: Matlabi Shayari

  3. Pingback: Dua Shayari

Leave a Comment

Your email address will not be published.

x